नौकरसाही

छोटे-बड़े चिकित्सालयों में करीब 6 लाख रुपए खर्च करने के बाद अब तामेश्वर कच्छप के पास अपनी बेटी का इलाज कराने के लिए पैसे नहीं हैं. इधर मंजू का शरीर सूख कर कांटा हो गया है और हर दिन वो मौत के मुंह में जा रही है. मंजू पिछले दो महीनों से बिस्तर पर है और उसका इलाज भी नहीं हो रहा है.

अब तामेश्वर कच्छप ने बेटी के इलाज के लिए लोगों से मदद की गुहार लगाई है. मंजू के पिता तामेश्वर कच्छप का बैंक अकाउंट और डिटेल नीचे दिया गया है. साथ ही बच्ची के पिता का नंबर भी नीचे दिया हुआ है.