क्राइम न्यूज

रायपुर: जरूरी है रोजाना 15-20 मिनिट धूप में बिताना

रिर्पोटरः द-खबरिया – बढ़ रही है विटामिन डी से कमी से ग्रसित लोगों की संख्या…

:-  छत्तीसगढ़ चैप्टर द्वारा एक विशेष और महत्वपूर्ण राज्य स्तरीय कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। आयोजित इस कॉन्फ्रेंस में एंडोमेट्रियल थिकनेसए इंटरप्रिटेशन एन्ड मैनेजमेंट एन्ड रोल ऑफ विटामिन डी इन मेनोपॉज़ एन्ड ऑस्टियोपोरोसिसश् विषय के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। कॉन्फ्रेंस का आयोजन डा़ आभा सिंह, सचिव डॉ मनोज चेलानी तथा संयुक्त सचिव डॉ सुषमा वर्मा के कुशल नेतृत्व में हुआ।

यह आयोजन राज्य भर से इस कॉन्फ्रें

स में आए हुए 100 से अधिक गायनोकोलॉजिस्ट स्त्री रोग विशेषज्ञों को मरीजों की समस्या को डायग्नोज करने उनकी जांच करने और इलाज करने में मददगार होगा। आयोजन में एक्सपर्ट पैनल में ख्यात डाक्टर्स ने षिरकत की। इलाहाबाद से आइ गायनोकोलॉजिस्ट डॉ रंजना खन्ना ने बताया विटामिन डी डाइट में से कैल्शियम को अवशोषित करने में बहुत मददगार है। इसलिए यह ताकतवर हड्डियों के निर्माण, ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव तथा हिप फ्रेक्चर की आशंका को कम करने के लिए जरूरी है। विटामिन डी ब्रेस्ट कैंसरए कोलोन और स्किन कैंसर से भी बचाव करता है और लो मूड एवं कॉग्निटिव परफॉर्मेंस पर भी अच्छा असर डालता है। विटामिन डी आपके शरीर इन्सुलिन का प्रयोग करने में मदद करता है और डाइबिटीज से बचाव करता हैए साथ ही यह हायपरटेंशन य हाई ब्लड प्रेशरद्ध से पीड़ित लोगों में ब्लड प्रेशर को कम करता है। अपने भोजन और जीवनशैली को संतुलित बनाकर या सप्लीमेंट्स का प्रयोग कर बढ़ाइए विटामिन डी का लेवलए कीजिये बचाव स्वास्थ्य पर पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों और बीमारियों से 40 से 80 प्रतिशत लोग हैं विटामिन डी की कमी से पीड़ित। इस विटामिन की कमी अब वैश्विक स्तर पर लोगों की स्वास्थ्य समस्या बन गई जो दुनियाभर में 1 बिलियन लोगों को प्रभावित कर रही है। हमारे देश के उत्तरी भाग में रहने वाले लोगों पर इसका प्रभाव दक्षिण में रहने वालों की अपेक्षा अधिक है। ऑस्टियोपोरोसिस और मेनोपॉज़ के लक्षणों को नियंत्रित करने में विटामिन डी सीक्रेट वेपन की तरह काम करता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *