खास खबर छत्तीसगढ़ राजनीति

दक्षिण विधानसभा के लिए कांग्रेस के 35 उम्मीदवार, नारी सुरक्षा की आवाज बनने नीना युसुफ उतरी मैदान पर

रायपुर- यूं तो प्रदेश की राजनीति में सबसे ज्यादा मुश्किल विधानसभा क्षेत्र माना जाता है दक्षिण विधानसभा क्षेत्र को 2018 के चुनाव में भी चुनौती माना जा रहा है। बावजुद इसके इस विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के 35 कार्यकताओं ने दावेदारी की है। वहीं इस बार वर्तमान विधायक बृजमोहन अग्रवाल को टक्कर देने व नारी सुरक्षा की आवाज बनने नीना युसुुफ भी उतरी मैदान में।
https://youtu.be/JA0Qm52UTko
महिलाओं की सुरक्षा पहला उद्देश्यः- लम्बे समय से कांग्रेस सदस्य रहीं नीना युसुफ ने कहना है चुनाव में उतने का केवल एक ही कारण है वह महिला सुरक्षा बस्तर, मुज्जफरपुुर की घटनाओं ने मुझे रणभूमि उतरने को मजबुर किया। समय-समय पर महिलाओं की आवाज उठाती रही हूं आगे भी महिलाओं की सुरक्षा के लिए लड़ते रहूँगी। उन्होंने आगे कहा पार्टी मुझे अगर लड़ने का मौका देती है तो बेशक मैं ज्यादा अच्छे महिलाओं के लिए काम करूंगी अगर नहीं भी देती है तब भी मेरा जीवन महिलाओं के लिए समर्पित है।
बलात्कारियों के लिए हो यह सजाः-
नीना युसुफ लगातार बलात्कारियों के लींग काटने की सजा की अपील करते  आयी हैं जिसके कारण इन्हें सोशल मीडिया में काफी डोल भी किया जाता है। उनका कहना है कि कोर्ट ने बलात्कारियों के खिलाफ कानून में संशोधन तो किया गया जिसमें नाबालिकों के साथ दुष्कर्म करने वाले बलात्कारी को मौत की सजा वहीं बड़ती उम्र की महिलाओं के साथ बलात्कार करने में केवल 7 साल की सजा रखी गयी है जो कहीं से भी सही नहीं है महिला की आबरू हर उम्र में अमुल्य ही होती है। फिर इस तरह की व्यवस्था क्यों उनका कहना है ऐसा करके बलात्कारियों के हैसले को और ताकत दिया जा रहा है। उन्होंने बार-बार केवल एक ही मांग की बलात्कारियों का लिंग काट कर उनके माथे पर बलात्कारी लिख कर छोड़ देना चाहिए। ताकि महिला को इंसाफ मिली और कोई भी यह हिम्मत न कर सके।
देखना यह होगा कि महिला सुरक्षा आवाज बनकर नीना युसुफ बृजमोहन अग्रवाल के खिलाफ जंग लड़ सकेंगी या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *