NEWS खास खबर छत्तीसगढ़

भूपेश सरकार के बार-बार कर्ज लेने पर रमन सिंह का तंज- ‘कर्ज लो घी पियो’ की नीति पर चल रही कांग्रेस सरकार

रायपुर. कांग्रेस सरकार द्वारा महज दो महीने में यह छठवां मौका है, जब सरकार ने अपनी प्रतिभूति (सिक्योरिटी बांड) बेची है। इससे राज्य पर कर्ज का बोझ बढ़कर 58 हजार करोड़ के पार पहुंच गया है, बार-बार कर्ज लेने को लेकर अब डॉ रमन सिंह ने भूपेश सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि “कर्जा लो और घी पियो” कुछ ऐसी ही नीति पर चलते हुए कांग्रेस सरकार ने पिछले 2 महीनों में छठवीं बार रिज़र्व बैंक से कर्ज लिया है। मुख्यमंत्री भूपेश जी इतने कर्ज का बोझ अंततः जनता को ही झेलना पड़ेगा। शासन की यह नीति न ही जनहित में है और न ही राज्यहित में है।

चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार ने कर्जमाफी समेत कई घोषणाएं की थी जिसे पूरा करने के लिए कांग्रेस सरकार के सामने बड़ी चुनौती थी। वादों को पूरा करने के लिए सरकार बार-बार कर्ज ले रही है।तीन महीने के कार्यकाल में अब तक सात हजार करोड़ से अधिक का बांड सरकार बेच चुकी है। छह बार में लिए गए इस कर्ज के लिए सरकार औसत आठ फीसद ब्याज भरेगी और दो से लेकर छह वर्ष में चुकाएगी। जानकारों का कहना है कि भूपेश सरकार ब्याज लेना मजबूरी है, इस तरह कर्ज लेने से विकास कार्यों पर असर पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *